Competitor Keyword Research Kya Hai और कैसे करे

ब्लॉगिंग में दूसरों से एक कदम आगे रहने के लिए SEO के साथ-साथ Competitor Keyword Research के बारे में भी जानना बहुत जरूरी है। आपकी Content Strategy और Marketing कितनी भी अच्छी क्यों ना हो, लेकिन आपके Competitor किन Keywords को टार्गेट कर रहे हैं यह जाने बिना आप उनसे प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकते। 

अगर आपके Competitors लगातार नए Keyword Ideas पर काम कर रहे हैं तो ये निश्चित है कि वो कुछ ऐसे Keywords पर Rank कर रहे होंगे जिन पर हो सकता है आप नहीं रैंक कर रहे हों।  

अपने Competitors के उन कीवर्ड को जानने के लिए जिन पर वो गूगल सर्च रिजल्ट्स में रैंक करते हैं, हमें keyword competitive analysis करना पड़ता है। 

इस ब्लॉग पोस्ट को पढ़ने के बाद आप ये जान जाएंगे कि:

  • Competitor Keyword Research क्या है?
  • Competitor Keyword Research क्यों करते हैं?
  • Competitor Keyword Research कैसे करते हैं? 
  • Best Tools for Competitor Keyword Research

इसके अलावा अपने Competitor से ब्लॉगिंग में आगे निकलने के लिए आपको और भी बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। इस Article में आपको अपने Competitor को पहचान कर बेहतर Keyword Research करने की Strategies और Tips दी गई हैं। लेकिन सबसे पहले आइए जान लेते हैं कि Keyword Competition क्या है हिन्दी में?

यह भी पढ़े:

Keyword Research Kaise Kare

Best Free Keyword Research Tool in Hindi

Keyword Competition क्या है?

 Keyword Competition का मतलब है किसी Keyword को सर्च इंजन रिजल्ट्स में रैंक करने की Difficulty का लेवल। यानि अगर आप किसी टॉपिक पर कोई Article लिखते हैं तो उस टॉपिक पर पहले से मौजूद Web Pages से आगे निकल कर Search Engine Rankings में टॉप पर आने में कितनी मुश्किल होगी। 

जो Keyword जितना ज्यादा Popular होगा और जितना ज्यादा Search Volume का होगा, उस Keyword की Difficulty उतनी ही ज्यादा होगी। 

उदाहरण के लिए Finance और Technology दो ऐसे टोपिक्स हैं जिनकी Keyword Difficulty बहुत ज्यादा है। 

Competitor Keyword Research Kya Hai? 

Keyword Research किसी भी सफल SEO campaign का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है।  

ब्लॉगिंग में Keyword competitive analysis वह प्रक्रिया है जिससे हम अपने Competitor के उन Relevant और Valuable Keywords का पता लगाते हैं जिन पर हमारे Competitors तो रैंक कर रहे होते हैं लेकिन हम रैंक नहीं करते। 

इस प्रक्रिया से आप उन Organic और Paid Keywords का भी पता लगा सकते हैं जिन पर High Search Volume मिलता है या अच्छा Conversion Rate मिलता है। 

किसी भी ब्लॉगर के लिए सिर्फ अपने Blog के topics और Keywords पर Research कर लेने से काम नहीं चलेगा। आपको इंटरनेट पर होने वाली सर्च के Search Intent को भी समझना पड़ेगा। 

आपको यह भी जानना पड़ेगा कि आप जिस Blog Niche पर लिखते हैं उसे पढ़ने वाले Audience को कैसे Attract करना है और कैसे अपनी वेबसाइट पर लाना है। इसलिए Competitor Keyword Research के माध्यम से हमेशा औरों से दो कदम आगे रहना चाहिए। 

Competitor Keyword Research क्यों करते हैं?

मित्रों क्या दुनिया में कोई भी ऐसा Blogger होगा जो अपने ब्लॉग पर ज्यादा Traffic नहीं चाहेगा? नहीं ना! तो फिर अगर आपके Competitors (मतलब दूसरे Bloggers जो उसी टॉपिक पर लिखते हैं जिन पर आप Blogging करते हैं) कुछ Relevant Keywords पर ब्लॉगिंग कर के सर्च ट्रेफिक प्राप्त कर रहे हैं तो वो Keywords आपके लिए भी महत्वपूर्ण हो सकते हैं। 

कभी-कभी यह भी होता है कि कुछ अच्छे और High Search Volume वाले Keywords हमसे छूट जाते हैं या भूल जाते हैं। ऐसे में अगर दूसरे लोग उन Keywords को Target करते हैं तो वो Google और Bing जैसे Search Engines की SERPs में टॉप पर Rank करने लगते हैं। ऐसे ही छूटे या भूले हुए Keywords को हम आसानी से Competitor Keyword Research से पता कर सकते हैं। 

Competitive कीवर्ड रिसर्च आपके लिए यह जांचने का मौका है कि आपके प्रतियोगी ऑनलाइन क्या कर रहे हैं। इससे हमें उनकी सफलताओं और गलतियों दोनों से सीखने को मिलता है। आइए जानते हैं कि competitor keyword analysis इतना महत्वपूर्ण क्यों है। 

Competitor Keyword Research इसलिए किया जाता है:
  • इससे आप यह निर्धारित कर सकते हैं कि आपके Blog Niche के लिए किस प्रकार की एसईओ रणनीतियाँ सबसे अच्छा काम करती हैं, और आपको उन वेबसाइटों से आगे निकलने के लिए क्या करने की आवश्यकता है जो पहले से ही ऑनलाइन मौजूद हैं।
  • जब आपको पता चलता है कि किस प्रकार के कीवर्ड और Phrase आपकी ऑडियंस के लिए ट्रैफ़िक ला रहे हैं, तो आप उन Relevant Keywords को अपने ब्लॉग में टार्गेट कर सकते हैं।
  • Relevant और Effective Keywords Target करने से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को ज्यादा Traffic मिलेगा। इससे Conversion भी ज्यादा होता है। 
  • Competitor Keyword Research के माध्यम से आप ज्यादा Audience बनाने में सफल हो सकते हैं जिससे आपको दूसरों के मुक़ाबले competitive advantage मिल जाता है। 
  • अच्छी keyword-focused competitive research से आपको सर्च इंजिन रैंकिंग्स में Higher Rank करे का मौका मिलता है। 
  • ब्लॉगिंग में लगभग हर टॉपिक या Niche में कुछ :Opportunity gaps” होते हैं। ये वो Topics होते हैं जिन पर Intent का लेवल तो बहुत हाइ होता है लेकिन ये आपके Competitor द्वारा टार्गेट नहीं किए गए होते हैं। आप इसका फायदा उठाकर उस Keyword Topic पर leading authority बन सकते हैं।
  • Secondary keyword opportunities जानने के लिए। इससे आपको एक Complete SEO रणनीति बनाने में मदद मिलती है। 
ब्लॉगिंग में अगर अच्छे से Competitor Keyword Research किया जाए तो निम्नलिखित प्रश्नों के जवाब मिल जाते हैं:
  1. ब्लॉगिंग में मेरे प्रतियोगी कौन हैं, और उनकी तुलना में मैं कैसे अपने Content को और बेहतर बना सकता हूँ। 
  2. मुझे किन Keywords को Target करना चाहिए, और मेरे प्रतिस्पर्धियों या Competitors ने किन Keywords को अनदेखा कर दिया है?
  3. मुझे अपनी content marketing strategy में किन Topics या विषयों को शामिल करने की जरूरत है?
  4. मेरी Competitor जो कर हैं उसके आधार पर मैं सर्च इंजन में अपनी Organic Ranking कैसे सुधार सकता हूं?

हालांकि यहाँ ध्यान देने कि बात यह है कि SEO और Keyword Research मेंआपके प्रतिस्पर्धियों के लिए काम करने वाली हर चीज ये जरूरी नहीं है कि आपके लिए भी काम करेगी।  

लेकिन फिर भी Competitive Keyword Research से आपको कुछ नया जानने में मदद मिलती है। यह सुनिश्चित करता है कि आप अपने Blogging Niche में अपनी सर्च रैंकिंग्स को समझते हैं और उसे सुधारने की कोशिश करते हैं। 

कुल मिलाकर देखा जाए तो competitor keyword analysis से हमें High Search Volume और टॉप सर्च रैंकिंग के साथ-साथ effective SEO campaigns चलाने में भी मदद मिलती है। 

Competitor Keyword Research कैसे करते हैं? अपने Competitor के Keywords कैसे पता करें?

अब आप जान गए हैं कि Competitor Keyword Research Kya Hai, और यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है। आइए अब जानते हैं कि अपनी सर्च इंजिन रैंकिंग्स सुधारने के लिए आप यह Analysis कैसे करेंगे। 

ब्लॉगिंग में आप चाहे नए Keywords ढूंढ रहे हों या Publish हो चुके Keywords पर फोकस करना चाहते हों दोनों के लिए Competitor Keyword Research की प्रक्रिया एक ही है। हालांकि इस पोस्ट में हमने नए Keywords ढूँढने के लिए Competitive Analysis पर फोकस किया है। 

1. अपने Competitors को पहचानें- Find Your Competitors 

यहाँ आपको अपने Search Competitor को पहचानना जरूरी है। ध्यान रखें कि सर्च Competitor आपके Business Competitor से अलग होता है। आपको इसके लिए हर छोटी बड़ी वेबसाइट के पीछे हाथ धो कर पड़ने की जरूरत नहीं है। 

सिर्फ उन्ही ब्लॉग और वेबसाइट के बारे में पता लगाना है जो उन Keywords पर Content तैयार कर चुके हैं और सर्च रैंकिंग्स में टॉप पर हैं। 

अपने Competitors को पहचानने के लिए आप गूगल और competitor keyword research tools का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए Ubersuggest, SE Ranking, BuzzSumo, Ahrefs, और SEMrush के कीवर्ड रिसर्च टूल्स अच्छे हैं। 

इन Keyword Tools में आपको सिर्फ keywords या phrases सर्च बार में Enter करना होता है। ये टूल्स अपने आप ही आपके Competitors की पूरी लिस्ट आपके सामने पेश कर देंगे। 

SE Ranking:

SE Ranking एक Real time Keyword Research टूल है। इससे आप अपने प्रतिस्पर्धियों की वैबसाइटपर खुफिया नज़र रख सकते हैं। यह एक all-rounded competitor analysis tool है। 

SE Ranking competitor keyword research tool.
Ubersuggest Chrome Extension:

आप चाहें तो Ubersuggest Chrome Extension  का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। Neil Patel का यह Extension एक बेहतरीन Competitor Keyword Research Tool है। ये कोई भी सर्च टर्म गूगल में टाइप करते ही उसके टॉप Keywords और Competitors आपको बता देता है। 

ये टूल Google, YouTube और Amazon के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। सर्च insight और suggested keywords भी इस टूल से पता चल जाते हैं। 

Ubersuggest extension for keyword research.
Ahrefs Site Explorer:

Competitive domains को ढूँढने के लिए Ahrefs का Site Explorer भी एक अच्छा Option है। इस एक टूल में ही तीन खूबियाँ हैं। 

  1. Organic traffic research– ऑर्गेनिक ट्रैफिक रिसर्च में आप देख सकते हैं कि आपके प्रतियोगी किन कीवर्ड के लिए रैंकिंग कर रहे हैं और उनके कौन से पेज सबसे ज्यादा सर्च इंजन ट्रैफिक लाते हैं।
  2. Competitor बैकलिंक चेकर-ये आपके Competitor के Backlinks चेक करने के लिए बढ़िया विकल्प है। इससे आपको पता चल जाता है कि आपके Competitors ने कहाँ से Backlinks ली हैं और क्या वो Quality Backlinks हैं। 
  3. Paid Keywords Research-आप Ahrefs के इस टूल के “Paid Search” section में जाकर Report देखा सकते हैं कि आपके Competitor किन Keywords पर Bidding कर रहे हैं और अपना PPC Ad चला रहे हैं। 
Content Gap का पता लगाएँ:

ब्लॉगिंग या वेबसाइट में Content Gap का मतलब है ऐसे Keywords जिन पर दूसरे तो Rank करते हैं लेकिन आपका ब्लॉग नहीं करता। ये इसलिए भी हो सकता है कि शायद आप उन Keywords को Target करना भूल गए हों। 

इसमें Content gap tools आपकी मदद कर सकते हैं। लगभग सभी Competitor Keyword Research Tools में ये सुविधा होती है। Ahrefs Site Explorer में भी आप आसानी से कंटैंट Gap का पता लगा सकते हैं। 

अगर आप Competitor की पूरी वेबसाइट नहीं चेक करना चाहते तो किसी Subdomain को टाइप कर के भी Content Gap का पता लगा सकते हैं। 

Keyword analysis सिर्फ अपने Competitor के Data से टार्गेट की जाने वाली search queries निकालने तक ही सीमित नहीं है। Competitor Keyword Analysis से हमें प्रतिस्पर्धियों की कमजोरियों के बारे में उपयोगी जानकारी भी मिलती है। 

इस जानकारी का उपयोग हमें अपने फायदे के लिए करना होता है। लेकिन कैसे?

एक बार जब आप अपने कीवर्ड की अंतिम सूची को Final कर लेते हैं, तो सभी को एक बार Google सर्च में खोजें। निम्नलिखित मेट्रिक्स के संदर्भ में सर्च किए गए रिजल्ट्स का विश्लेषण करें:

  1. Domain Authority– यह किसी वेबसाइट के डोमेन पर अलग-अलग पेजों से लिंक करने वाली वेबसाइटों की कुल संख्या होती है। एक High Domain Authority का मतलब है कि आपका Competitor बहुत Powerful है। मतलब इस Competitor से आगे निकालने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ेगी।  
  2. लिंक प्रोफ़ाइल – किसी विशेष वेबपेज से लिंक करने वाली वेबसाइटों की कुल संख्या। किसी ब्लॉग या वेबसाइट की बड़ी संख्या में उच्च-गुणवत्ता वाले बैकलिंक्स का सर्च इंजन रैंकिंग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जितनी ज्यादा High Quality Backlinks उतनी ज्यादा Authority होती है। 
  3. Content Quality-आपका Content या ब्लॉग पोस्ट जितना ज्यादा अच्छा होगा ये उतना ही ज्यादा अच्छे से Search Intent को Match करेगा। 
  4. User Experience- User-friendly, mobile-responsive, और fast-loading वेबसाइट content सर्च इंजिन पसंद करते हैं। यहाँ आपको अपने Competitor की वेबसाइट के वेबपेज को चेक कर के देखना होगा कि इन Metrics में उन्होने कहीं कोई कमी तो नहीं की है। 

ऊपर दिये गए Metrics के आधार पर अपने Competitors की वेबसाइट को चेक करें। देखें कि अलग-अलग मेट्रिक के लिए गूगल सर्च रिजल्ट्स में टॉप पर आने वाले रिजल्ट्स कैसे Perform करते हैं। अगर कहीं कोई Weakness या कमी है तो वो आपके लिए एक Opportunity है जिसे आपको Target करना होगा। 

उदाहरण के लिए अगर आपके किसी Competitor की वेबसाइट का site architecture ठीक नहीं है तो आप अपनी साइट के Navigation और Site Architecture को ठीक कर के Competitor से आगे निकल सकते हैं। 

Look For Keyword Opportunities:

ऊपर दिये गए तरीकों को ध्यान में रखते हुए यह सोचें कि जिन Keywords को Target करने के लिए अपने प्लान बनाया है उनमें से कितने आपकी वैबसाइट पर Visitors और Customers ला सकते हैं। इसके लिए आपको पहले अपनी वेबसाइट के Audience और सर्च Traffic को समझना पड़ेगा। 

आप हमेशा उन कीवर्ड को टार्गेट करें और Articles लिखें जो आपके ब्लॉग या बिज़नस की niche से मिलते-जुलते  हों। आप चाहें तो गूगल के Google Trends, गूगल कीवर्ड प्लानर या Google Suggest का इस्तेमाल कर ऐसे टोपिक्स निकाल सकते  हैं।

जब भी अपने Competitor से बेहतर Content तैयार करना हो तो में long-tail keywords का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।  

Best Tools for Competitor Keyword Research

  1. BuzzSumo
  2. WordStream’s Free Keyword Tool
  3. SEM Rush
  4. SpyFu
  5. Ahrefs Keywords Explorer
  6. Google Keyword Planner tool
  7. Similarweb

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न-Frequently Asked Questions

  1. Competitor Keyword Research के क्या फायदे हैं?

    Competitor Keyword Research करने से हमें उन Keywords के बारे में जानकारी मिलती है जो हमारे Competitors को High Search Volume देते हैं। इससे हमें अपनी वेबसाइट ट्रेफिक बढ़ाने में मदद तो मिलती ही है साथ में ब्लॉग की Credibility और Authority बढ़ाने में भी मदद मिलती है। 

  2. Competitor Keyword Research कैसे करते हैं?

    Competitor Keyword Research करने के लिए आप Google और Bing जैसे सर्च इंजिन का सहारा ले सकते हैं। इसके अलावा Competitor Keyword Research Tools का भी सहारा लिया जा सकता है।

  3. Blogging में Competitor Keyword Research करने के लिए Best Tools कौन से हैं?

     Ahrefs Keywords Explorer, SEMrush, BuzzSumo, SE Explorer और Google Keyword Planner कुछ अच्छे Competitor Keyword Research Tools हैं। ये सभी Paid Tools हैं। 

Conclusion:

इंटरनेट पर हजारों वेबपेज रोजाना पब्लिश होते हैं जिसके कारण सभी Keywords Niches में Competition बहुत ज्यादा बढ़ गया है। ऐसे में आप अगर Competitor Keyword Research नहीं करेंगे तो कॉम्पटिशन में पीछे रह जाएंगे। सभी Website Owners का एक ही लक्ष्य होता है- अपनी वेबसाइटों पर ट्रैफ़िक बढ़ाना।

यहाँ हिन्दी में अपने Competitor का कीवर्ड रिसर्च करने की पूरी जानकारी दी गयी है जिसके उपयोग से कोई भी आसानी से Relevant और High Volume Keywords ढूंढ सकता है। 

आप अपने Competitor के लिए चाहे जिस भी टूल का इस्तेमाल करें लेकिन हो सकता है कि वे कुछ ऐसा कर रहे हों जिससे आपको सीखने को मिले। और ये भी हो सकता है कि आप अपने Competitor से आगे निकल जाएँ। 

RISHABH KOLHE

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक हूं, मैंने 2017 में अपनी डिजिटल मार्केटिंग यात्रा शुरू की थी। पहले, मैंने अपने करियर की शुरुआत Culturelligence में SEO से की, फिर कुछ समय बाद, मैंने डिजिटल मार्केटिंग के बारे में और सीखा। मैंने एक US -आधारित मानव संसाधन संगठन, Agile PeopleOps के साथ एक डिजिटल मार्केटर के रूप में काम किया। अब मैं WealthyWork में काम कर रहा हूं, हम सभी डिजिटल मार्केटिंग सेवाओं में विशेषज्ञता रखते हैं।
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *