Learn Google Algorithm Update in Hindi

गूगल अपने सर्च रिजल्ट्स की क्वालिटी को हमेशा बेहतर करने की कोशिश करता रहता है। Google Algorithm Update के माध्यम से किसी सर्च query के लिए सबसे बेहतर और उपयोगी वेबपेज की रैंकिंग Factors में बदलाव करता है। 

इस आर्टिक्ल में हम Google algorithm updates in Hindi में जानेंगे और ये भी जानेंगे कि ये Updates SERPs (सर्च इंजन रिजल्ट पेज) को कैसे प्रभावित करते हैं। अगर आप SEO (Search Engine Optimization) expert हैं तो आप यह भी जानेंगे कि अपनी वैबसाइट को Google Algorithms के लिए कैसे Optimize करें। 

Major Google algorithm updates in Hindi

  1. Panda (2011)
  2. Penguin (2012)
  3. Pirate 92012)
  4. Pigeon Update (2013)
  5. Hummingbird (2013)
  6. Pigeon (2014)
  7. RankBrain (2015
  8. Mobile Friendly Update (2015)
  9. Possum Update (2016)
  10. Fred (2017)
  11. Google Speed Update (2018)
  12. Medic Core (2018)
  13. BERT (2019)
  14. Core Updates (2020)
  15. Passage ranking update (February 2021)
  16. Product reviews update (April 2021)
  17. Page Experience Update (2021)
  18. July 2021 Core Update
  19. Spam Update (2021)

हम ऊपर दिये गए सभी महत्वपूर्ण Algorithm अपडेट या एल्गोरिदम लॉन्च को हिन्दी में बताएँगे। आप सबसे लेटैस्ट Google update के बारे में भी जानेंगे लेकिन आइए सबसे पहले ये जान लेते हैं कि Google Algorithm Kya Hai? 

Google Algorithms Kya Hai?

Google search algorithm या Google Algorithms ऐसे नियम और प्रोग्राम हैं जिनकी सहायता से गूगल किसी search query के लिए सबसे अधिक प्रासंगिक और सटीक रिजल्ट्स दिखाता है। 

जब आप गूगल सर्च इंजन पर कोई जानकारी खोजते हैं तो गूगल अपने Search index में मौजूद अरबों वैबसाइटों में से प्रामाणिक और सबसे उपयोगी जानकारी आप तक पहुंचाता है। 

आपके प्रश्नों के उत्तर में वेबपेजों को ढूँढने, उन्हे Sort या क्रमबद्ध करने और सबसे सटीक जानकारी जिन नियमों या Rules की सहायता से गूगल आप तक पहुंचता है उन्हे ही गूगल सर्च Algorithms कहा जाता है। 

किसी सर्च Query के उत्तर में कौन सी वैबसाइट का वेबपेज सबसे सही और Relevant है इसके लिए गूगल का रैंकिंग सिस्टम 200 से ज्यादा रैंकिंग कारकों या Factors का उपयोग करता है।

गूगल एल्गॉरिथ्म के बाद आइए जानते हैं कि Google Algorithm Update Kya Hai?

Google algorithm update by google.

Google Algorithm Update Importance Kya Hai?

गूगल ने लोगों के सवालों के जवाब देने के तरीके और तकनीक में बहुत सुधार किया है। Google सर्च या खोज पहले से ज्यादा विकसित और बेहतर हुआ है। गूगल किसी एक Algorithm का उपयोग कर के वेबपेजों को Sort नहीं करता बल्कि गूगल का रैंकिंग सिस्टम एल्गोरिदम की एक पूरी श्रृंखला से बना है। इनमें हमेशा अपडेट या बदलाव होते रहते हैं। 

Google के Algorithms में कभी छोटे तो कभी बड़े बदलाव होते रहते हैं। गूगल के ये अपडेट्स सर्च रिजल्ट्स में Webpages की रैंकिंग्स को प्रभावित करते हैं। गूगल की जब शुरुआत हुई थी तब गूगल अपने एल्गोरिदम में केवल कुछ ही अपडेट किया करता था। इंटरनेट सर्च के बहुत Complex होने के साथ ही अब, Google हर साल हजारों बदलाव करता है। 

हालांकि अधिकतर Google Algorithm Update बहुत मामूली होते हैं जिनके बारे में पता ही नहीं चल पाता। लेकिन कभी-कभी गूगल major algorithmic updates भी लाता है जो SERPs को बहुत प्रभावित करते हैं। 

Google एल्गोरिथम अपडेट दो तरह के होते हैं:

  1. Minor updates
  2. Core updates

गूगल के Major Updates को ही Core Updates कहा जाता है। Google हर साल कुछ बड़े कोर एल्गोरिथम अपडेट लेकर आता है जो सर्च रिजल्ट्स की रैंकिंग और Sorting के अलावा User Experience को भी ध्यान में रखकर पेश किए जाते हैं। 

एक बात ध्यान देने की है कि Google अपने एल्गोरिदम में बदलाव का कोई संकेत तभी देता है जब वो Update बहुत महत्वपूर्ण या Major अपडेट हो। 

Google एल्गोरिथम अपडेट Google के एल्गोरिथम में वो सभी बदलाव होते हैं जिनसे समग्र उपयोगकर्ता अनुभव (User Experience) को बेहतर बनाया जाता है और किसी सर्च क्वेरी या गूगल पर पूछे गए प्रश्न के लिए सबसे प्रासंगिक सर्च रिज़ल्ट दिखाया जाता है। 

Google एल्गोरिथम अपडेट SEO को कैसे प्रभावित करता है?

Google के अपडेट आपकी वेबसाइट के SEO और ट्रैफ़िक पर बड़ा प्रभाव डाल सकते हैं, इसलिए इनके बारे में जानकारी होना महत्वपूर्ण है।

जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि कुछ Google Algorithm Update बहुत छोटे और मामूली होते हैं जो आपकी वैबसाइट या Content की रैंकिंग्स पर कोई खास प्रभाव नहीं डालते। लेकिन कुछ कोर अपडेट (Major Update) सीधे आपकी सर्च ट्रैफ़िक पर असर डालते हैं। 

Algorithm Update से पहले, हो सकता है कि आपकी वेबसाइट किसी सर्च क्वेरी या Keyword के लिए रैंक कर रही हो, लेकिन Google द्वारा किए गए एल्गोरिदम अपडेट के बाद वह सर्च रिजल्ट्स में बहुत नीचे जा सकती है या बाहर भी हो सकती है।

  • अलग-अलग एल्गोरिदम का एसईओ पर अलग-अलग प्रभाव पड़ता है। इसलिए गूगल के algorithms में हुए बदलाव के अनुसार SEO best practices Implement करनी चाहिए। 
  • SERP में आपकी साइट कितनी visible होगी या कहाँ रैंक करेगी, ये सीधे तौर पर Google Algorithm Update पर निर्भर करता है। 
  • ये बदलाव ट्रैफ़िक से लेकर कीवर्ड तक के परफॉर्मेंस को प्रभावित करते है। 
  • गूगल के algorithms अपडेट हमेशा अच्छे और Relevant कंटैंट को प्रोमोट करते हैं। लेकिन गूगल समय-समय पर “black hat” SEO practices को नकार भी देते हैं। 
  • सर्च इंजन को धोखा देने या ऐसी तकनीकों से बचना चाहिए जो सिर्फ गलत तरीके से कंटैंट को सर्च रिजल्ट्स में रैंकिंग्स दिलाने की कोशिश करें। गूगल को पता चल ही जाता है कि आप क्या कर रहे हैं जिससे आपकी रैंकिंग को नुकसान होगा। 

अब गूगल एल्गॉरिथ्म के Updates और Google के एल्गोरिथम अपडेट के इतिहास को जान लेते हैं।

Google Algorithm Updates History & Timeline (2000-2021)

वर्ष 2000 से लेकर अब तक के सभी महत्वपूर्ण Google एल्गोरिथम अपडेट का इतिहास यहाँ दिया गया है। ये वो “कोर अपडेट” हैं जिन्होने SERPs पर प्रभाव डालने के साथ-साथ वैबसाइट के SEO और user experience में बदलाव की भी शुरुआत की है।

आप Moz website पर जाकर गूगल के शुरुवाती के updates देख सकते है।

सबसे पहले हम गूगल Algorithm के नए अपडेट से शुरू करते हैं:

Spam Update – June 23-July 26, 2021 (स्पैम अपडेट)

लिंक स्पैम अपडेट या स्पैम अपडेट Google का एल्गोरिथम अपडेट है जो साइटों पर इनबाउंड और आउटबाउंड लिंक को टार्गेट करता है। sponsored और guest पोस्ट के साथ-साथ affiliate content के माध्यम से सर्च रिजल्ट्स को प्रभावित करने की कोशिश गूगल क्वालिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन मनी जाएंगी। 

गूगल ने इस algorithm update के माध्यम से अपने सर्च रिजल्ट्स की क्वालिटी को बेहतर करने की कोशिश की है। “link spam” में भाग लेने वाली साइट की रैंकिंग्स में गिरावट कर के गूगल उन्हे दंडित भी करेगा। 

गूगल का कहना है कि उचित रूप से टैग किए गए लिंक का उपयोग करके अपनी साइट के बारे में जागरूकता बढ़ाएँ  और सही से टैग किए गए Affiliate लिंक के साथ अपनी वैबसाइट को Monetize करें।

Spam Update – June 23-July 26, 2021 (स्पैम अपडेट)
July 2021 Core Update – July 1-12, 2021

गूगल का ये अपडेट 1 जुलाई 2021 को शुरू हुआ और 12 जुलाई 2021 को पूरी तरह से लागू कर दिया गया। हालांकि इस अपडेट के बारे में कोई डीटेल गूगल ने नहीं दी। 

लेकिन SEO Experts का मानना है कि पिछले Core Updates की तरह ही जुलाई के Core अपडेट ने सर्च  के कुछ खास पहलुओं को अपडेट नहीं किया, बल्कि पूरी तरह से सर्च रिजल्ट्स को Refine करने के लिए बदलाव किए हैं।

Page experience update (June 2021)

गूगल ने अपने Page Experience Update से किसी वेबपेज के “page experience” को भी सर्च रैंकिंग्स निर्धारित करने में शामिल कर लिया है। हालांकि ये नए मेट्रिक्स नहीं हैं, लेकिन अब सर्च रिजल्ट्स के लिए किसी व्यक्ति के वेबपेज के अनुभव को मापने के लिए इनकी Priority बढ़ गई है। 

इन्हे Core Web Vitals भी कहा जाता है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो आपको अपनी वैबसाइट के UX optimization पर ज्यादा ध्यान देना होगा। उदाहरण के लिए किसी वैबसाइट की रैंकिंग इस बात पर भी निर्भर करेगी कि वेबपेज और उसका main content कितनी तेज़ी से Load होता है। 

अच्छे से compress और Optimize की हुई Images भी page experience को बढ़ाएँगी और आपकी रैंकिंग के लिए अच्छी साबित होंगे।

Product reviews update (April 8, 2021)

इस अपडेट के माध्यम से गूगल ने in-depth reviews, insightful analysis और original research को शामिल करने वाली वैबसाइटों को सर्च रैंकिंग में वरीयता देने का ऐलान किया। 

गहन और अच्छे product reviews को वरीयता के साथ गूगल ने ये भी स्पष्ट कर दिया कि Thin Content वाली वैबसाइट रैंकिंग में अच्छा पर्फ़ोर्म नहीं कर पाएँगी। गूगल Product Reviews बनाने और पब्लिश करते समय 9 महत्वपूर्ण और उपयोगी प्रश्नों को भी साझा किया जिनका खयाल रखा जाना चाहिए। 

Passage ranking update -(February 10, 2021)

गूगल “पैसेज इंडेक्सिंग” को रोल आउट किया जो Google को अब न केवल वेब पेजों, बल्कि उन पेजों के पैसेज (पैराग्राफ या वाक्य) को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की सहायत से इंडेक्स कर सकता है। 

इन Passages की जानकारी को गूगल तुरंत featured snippet के माध्यम से Users तक पहुंचा सकता है। लोगों को पूरी वैबसाइट पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

BERT Update – (2019)

गूगल का यह BERT algorithm (Bidirectional Encoder Representations from Transformers) ऐसा मशीन लर्निंग सिस्टम है जो प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण को समझ सकता है। 

इस अपडेट से किसी सर्च क्वेरी में शब्दों के संदर्भ को समझने में सहायता के साथ ही complicated search queries को हल करने में भी मदद करेगा। ये अपडेट नैचुरल भाषा की समझ में सुधार लाने के उद्देश्य से किए गए हैं। गूगल के अनुसार BERT algorithm update रैंकब्रेन अपडेट के बाद से सर्च एल्गोरिदम में सबसे बड़ा बदलाव है। 

ये अपडेट Long tail सर्च और सर्च रैंकिंग्स को प्रभावित करेगा। 

BERT Update – (2019)
Medic Core Update – (August 1, 2018)

अपने उपयोगकर्ताओं को ज्यादा high-quality search results देने के लिए गूगल अपने algorithms में अपडेट करता रहता है। गूगल का Medic कोर अपडेट भी इसी का हिस्सा है। 

हालांकि इसका असली नाम “broad core algorithm update” है लेकिन आम बोलचाल की भाषा में इसे Medic कोर अपडेट कहा जाता है। 

Google का मेडिक अपडेट इंटरनेट पर authority और विशेषज्ञता की पहचान को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए किया गया था ताकि हाइ क्वालिटी कंटैंट और Authority वाली वैबसाइट की सर्च रैंकिंग्स में सुधार हो सके। 

इस अपडेट ने स्वास्थ्य और वेलनेस एवं वित्तीय, कानूनी जैसे article में साइटों को ज्यादा प्रभावित किया लेकिन इस अपडेट के प्रभाव को सभी article में बड़े पैमाने पर देखा गया। इससे बचाने के लिए हाइ क्वालिटी कंटैंट और authority के साथ आपकी वैबसाइट की credibility बढ़ाने पर ध्यान दें। 

Google Speed Update – (July 2018)

वैसे तो 2018 की जनवरी में ही Google ने अपने एल्गोरिथम में “स्पीड अपडेट” के बारे में बता दिया था लेकिन इसे जुलाई 2018 से लागू किया गया। इसमें नए रैंकिंग सिग्नल शामिल किए गए जो मोबाइल खोज परिणामों में तेज़ मोबाइल पेज स्पीड वाले पेजों को Organic Search Results में प्राथमिकता देते हैं।

यह अपडेट Google की “स्पीड इंटरनेट” और “मोबाइल-फर्स्ट-रैंकिंग” पहल का हिस्सा माना जाता है। 

गूगल ने पेज की स्पीड को मापने और सुधार करने के लिए नई अपडेट की गई पेजस्पीड रिपोर्ट और लाइटहाउस जैसे टूल के इस्तेमाल की बात भी कहि है। यानि आपकी वैबसाइट मोबाइल पर लोड होने में जितनी तेज़ होगी उतनी ही सर्च रैंकिंग्स में आपके टॉप पर जाने की संभावना बढ़ जाएगी। 

Website speed check by page speed insight
Fred Updated – (March 8, 2017)

Google के फ्रेड एल्गोरिथम अपडेट को Google ने निम्न-गुणवत्ता वाले सर्च रिजल्ट्स को हटाने के प्रयास में शुरू किया था। ऐसी साइटें thin content पब्लिश कर रही थीं और सिर्फ ज्यादा ad प्लेसमेंट पर निर्भर थीं।

Google Fred algorithm update से ब्लैक-हैट SEO को टार्गेट किया गया जिनका मुख्य लक्ष्य किसी भी तरीके से monetization प्राप्त करना था। 

इस अपडेट से ऐसी वैबसाइटें ज्यादा प्रभावित हुईं जो सिर्फ ads के माध्यम से पैसा कमाने के लिए बनाई गई थी। 

Google algorithm Fred Updated - (March 8, 2017)

ऊपर दी गई image में स्क्रीन के एक बड़े भाग में विज्ञापन हैं जो User Experience को कम कर देते हैं। 

Google Possum Update (September 1, 2016)

इस अपडेट की आधिकारिक तौर पर Google ने कभी पुष्टि नहीं की लेकिन SEO Experts के मुताबिक इसने Google के स्थानीय परिणामों और उनकी रैंकिंग्स को बहुत प्रभावित किया है।

Google Possum Algorithm Update से Google की स्थानीय सर्च रैंकिंग एल्गोरिदम में अपडेट हुआ है। उदाहरण के लिए Google My Business page में अगर आपके पास दो लिस्टिंग्स है जो एक जैसी हैं तो गूगल उन्हे अपने आप फ़िल्टर कर देगा। 

RankBrain Update (October 26, 2015) 

रैंकब्रेन अपडेट को Google के लिए मशीन-लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की सहायता से Relevant सर्च रिजल्ट्स दिखने के लिए बनाया गया है। 

इस algorithm से पहले गूगल अपने basic algorithm के इस्तेमाल से ही सर्च रिजल्ट्स को रैंक करता था। इस अपडेट के बाद RankBrain Google के core algorithm का हिस्सा बन गया है। अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की सहायता से गूगल किसी सर्च क्वेरी के जवाब के लिए वेबपेज को location, Keywords, शब्द संख्या और अन्य Factors के अनुसार रैंक करता है।

RankBrain Update (October 26, 2015) 
Mobile Friendly Update (April 21, 2015)

गूगल ने 2015 में इस अपडेट से मोबाइल सर्च परिणामों पर मोबाइल के अनुकूल पृष्ठों या mobile-friendly pages की रैंकिंग बढ़ा दी थी। 

ऐसी वैबसाइटें जो मोबाइल या स्मार्टफोन में सही से नहीं खुलती वो सर्च रैंकिंग्स में टॉप पर नहीं आ सकती। इस अपडेट से गूगल ने संकेत दे दिया था कि आने वाले भविष्य में Mobile Friendly websites को और भी वरीयता दी जाएगी। 

जैसे-जैसे इंटरनेट सर्च और बिज़नस डेस्कटॉप से मोबाइल पर शिफ्ट होता जा रहा है, वैसे-वैसे इस अपडेट की महत्ता बढ़ती जा रही है। 

Hummingbird Update – (September 26, 2013)

हमिंगबर्ड अपडेट को गूगल कोर एल्गोरिथम के पूरे Overhaul या बदलाव के रूप में माना जाता है। इस अपडेट से गूगल एल्गॉरिथ्म सिमेंटिक खोज या “semantic search” को समझने में माहिर हो गए। 

गूगल पर पूछे जाने वाले सवालों और की जाने वाली सर्च के इरादे और उनके संदर्भ को बेहतर ढंग से समझने में Google की मदद करने के लिए Hummingbird Update डिज़ाइन किया गया था।

Users की searchers’ queries के Intent को समझकर सबसे सटीक रिजल्ट्स को पेश करना इस अपडेट से संभव हुआ। आपका कंटैंट अगर search queries के Intent को सही से उत्तर नहीं दे पता तो सर्च रैंकिंग्स में वो नीचे चला जेगा। 

Google Pigeon Update – (August 20, 2013)

किसी उपयोगकर्ता की लोकेशन या उसकी दूरी के आधार पर सर्च रिजल्ट्स को optimize करने के लिए इस local search algorithm को पेश किया गया था। 

Organic search में लोकल बिज़नस या लोकल कंपनियों को रैंक करने में ये मदद करता है। ऐसा माना जाता है कि Google ने स्थानीय परिणामों के आधार पर सर्च रैंकिंग्स में बदलाव करने के लिए पूरी तरह से अपने एल्गोरिदम को फिर से डिजाइन किया था। इस अपडेट से Google कि मंशा स्थानीय या लोकल खोज परिणामों और वेब परिणामों को एक साथ लाने का था।

Google Pirate update – (August 10, 2012)

Original और खुद के बनाए हुए कंटैंट को गूगल हमेशा से वरीयता देता आया है। लेकिन कुछ वैबसाइट पर पब्लिश होने वाले pirated और दूसरों से चोरी किए हुए content के कारण कॉपीराइट नोटिस का सामना करना पड़ता है। 

गूगल ने अपने Pirate Update से कॉपीराइट कंटैंट के अवैध वितरण को रोकने और पायरेटेड साइटों को दंडित करने का काम किया है। अगर आपकी वैबसाइट में कहीं से चोरी किया हुआ या कॉपी किया हुआ कंटैंट है तो गूगल आपको सर्च रैंकिंग्स से बाहर कर देगा। 

इस अपडेट के भी कई version लॉंच हो चुके हैं।

Google Penguin Update – (April 24, 2012)

गूगल का Penguin अपडेट पहले के Panda अपडेट की तरह ही उच्च-गुणवत्ता वाली वेबसाइटों को पुरस्कृत करने के लिए लाया गया था। 

ये manipulative link प्राप्त कर सर्च रिजल्ट्स को प्रभावित करने वाली और कीवर्ड स्टफिंग में लगी वेबसाइटों की सर्च इंजन रिज़ल्ट पेज (SERP) में रैंकिंग्स को कम करने के उद्देश्य से की गई थी। 

Panda Update (February 23, 2011)

Google ने पहली बार पांडा अपडेट को फरवरी 2011 में ब्लैक हैट एसईओ रणनीति और वेबस्पैम को खत्म करने के लिए लॉन्च किया था।

इस अपडेट से Google ने अपने सर्च में Panda algorithm को शामिल किया था। इससे गूगल ने content farms keyword stuffing जैसे गलत तरीकों का इस्तेमाल करने वाली वैबसाइट को शीर्ष खोज रैंकिंग से हटाकर नीचे कर दिया था। 

ब्लैक हैट एसईओ रणनीति जैसे कीवर्ड स्टफिंग करने वालों को अपनी रणनीति बदलनी पड़ी थी। इस अपडेट ने गूगल को वेबपेज में thin, spammy, और low-quality content का पता लगाना आसान कर दिया। Google Panda Update कई बार हो चुके हैं। 

Conclusion:

Google अपने Algorithm Update के माध्यम से यह सुनिश्चित करने की कोशिश करता रहता है कि उसके उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे सटीक, प्रासंगिक और सुरक्षित वेबपेज के माध्यम से जनकारियाँ दी जाएँ। हर साल गूगल अपडेट सैकड़ों बार रिलीस होते हैं। 

किसी भी SEO Expert या Webmaster का काम अपने कंटैंट को सर्च एल्गॉरिथ्म के अनुसार Optimize करना होता है ताकि ज्यादा से ज्यादा ट्रेफिक प्राप्त किया जा सके। Google Algorithm Update किस तरह से आपकी सर्च रैंकिंग्स को प्रभावित करेंगे यह जान लेने से आप SEO best practices को आसानी से Implement कर सकते हैं। 

हिन्दी में ब्लॉगिंग, कंटैंट डेव्लपमेंट या बिज़नस करने वालों को सर्च रैंकिंग्स में Relevant बने रहने के लिए Google Algorithm Updates in Hindi में समझना जरूरी है।  

Frequently Asked Questions:

  1. गूगल कितनी बार अपने algorithm अपडेट करता है?

    गूगल हर साल कई बार अपने एल्गॉरिथ्म अपडेट करता है। छोटे या मामूली अपडेट चर्चा का विषय नहीं बनाते लेकिन Major या Core Updates सर्च रैंकिंग्स को प्रभावित करते हैं। 

  2. Google Updates के बारे में कहाँ से जानकारी मिलती है?

    गूगल खुद इन updates के बारे में अपनी वैबसाइट और Google सर्च Console के माध्यम से जानकारी देता है। गूगल के Social Media pages के माध्यम से भी ये जानकारी दी जाती है। 

  3. गूगल अपडेट महत्वपूर्ण क्यों है?

    गूगल अपडेट के बारे में अगर आपको समझ नहीं है तो आप गूगल की सर्च रैंकिंग्स में पिछड़ जाएंगे। आप User Intent को भी ठीक तरह से समझ नहीं पाएंगे। परिणामस्वरूप आपके सर्च ट्रेफिक में कमी हो जाएगी। 

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक हूं, मैंने 2017 में अपनी डिजिटल मार्केटिंग यात्रा शुरू की थी। पहले, मैंने अपने करियर की शुरुआत Culturelligence में SEO से की, फिर कुछ समय बाद, मैंने डिजिटल मार्केटिंग के बारे में और सीखा। मैंने एक US -आधारित मानव संसाधन संगठन, Agile PeopleOps के साथ एक डिजिटल मार्केटर के रूप में काम किया। अब मैं WealthyWork में काम कर रहा हूं, हम सभी डिजिटल मार्केटिंग सेवाओं में विशेषज्ञता रखते हैं।

Leave a Comment