Voice Search Optimization Kaise Kare in Hindi

अपनी आवाज से सर्च करना टाइपिंग से कई गुना तेज होता है। इसलिए सर्च इंजनों में Voice Search करने का प्रतिशत भी बढ़ता जा रहा है। Alexa, Siri और Google Assistant जैसे वॉइस असिस्टेंट की बढ़ती लोकप्रियता के कारण Website SEO में voice search optimization शामिल करना जरूरी है।

अगर आपकी वेबसाइट वॉइस सर्च के लिए Optimize नहीं होगी तो आपकी वैबसाइट पर ट्रैफ़िक ज्यादा नहीं आएगा क्योंकि अब लोगों के सर्च करने का तरीका बदल गया है। इसलिए Voice Search Kya Hai और Voice Search Optimization kaise kare यह जान लेने से आप अपने SEO Strategy में बदलाव कर सकते हैं।

आइए पहले जानते हैं कि वॉइस सर्च क्या होती है:

Voice Search Kya Hai

वॉइस सर्च ऐसी तकनीक है जिसके माध्यम से हम बिना कुछ टाइप किए सिर्फ अपनी आवाज के निर्देशों से इंटरनेट से जुड़े उपकरणों में सर्च कर सकते हैं। स्मार्टफोन और कंप्यूटर से लेकर होम असिस्टेंट जैसे डिवाइसों के माध्यम से वॉइस सर्च किया जाता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो वॉइस सर्च का मतलब है अपनी आवाज के माध्यम से Web पर Search करना। ये सर्च ठीक वैसे ही होती है जैसे कि कोई टाइप कर के सर्च किया जाता है। सर्च इंजन दोनों सर्च में एक जैसे ही रिजल्ट्स दिखते हैं।

पिछले कुछ वर्षों में इंटरनेट पर की जाने वाली खोजों में वाइस सर्च का प्रतिशत बहुत बढ़ा है। इसका कारण है कि अपनी क्वेरी या प्रश्न को टाइप करने के बजाय बोलना बहुत आसान और अधिक सुविधाजनक होता है। उदाहरण के लिए गूगल वेब ब्राउज़र में हम “Hey Google” command से वॉइस सर्च कर सकते हैं।

Voice Search तकनीक speech recognition Technology का इस्तेमाल करता है।

टॉप वॉइस सर्च उपकरण और सर्च इंजन

वॉइस सर्च बढ़ने के साथ-साथ इंटरनेट की दिग्गज कंपनियों ने अपने-अपने सर्च इंजन को Voice Enabled सर्च के लिए तैयार कर लिया है। Google, Microsoft, Amazon, Apple, और Xiaomi जैसी कंपनियों के Voice Search Devices पहले से ही मार्केट लीडर हैं।

आज फोन, टीवी, वॉच, पोर्टेबल स्पीकर या कोई अन्य digital डिवाइस, सभी वॉइस सर्च enabled हो गए हैं।

Top voice search devices ये हैं:

  • Google Home
  • Amazon Echo/Alexa
  • Google Assistant
  • Siri/iPhone
  • Android Phones और Devices
  • Microsoft Cortana
  • Samsung Bixby

ऊपर दिए गए सर्च devices में Google Home को गूगल के authentic और vast डेटा और सूचनाएँ समर्थित करती हैं। इसलिए Google Home सर्च queries का जवाब देने में सबसे सटीक और बेहतर है।

भारत में इन कंपनियों में से कई ने यहाँ की लोकल भाषाओं में भी अपने वॉइस सर्च devices को उपलब्ध करा दिया है। Google Assistant अब आसानी से हिन्दी में Conversation कर के सर्च Query का जवाब दे देता है।

Google Voice Search क्या है?

Google Voice Search एक ऐसा प्रोग्राम है जो उपयोगकर्ताओं को टाइप कर के सर्च करने के बजाय ध्वनि निर्देशों के माध्यम से Google पर सर्च करने की सुविधा देता है।

Image showing Google voice search kya hai.

सिर्फ अपनी आवाज़ का उपयोग करके गूगल वॉइस सर्च की मदद से Social Media में कमेंट से लेकर Google Docs में लिखने जैसे कई काम आसानी से हो सकते हैं।

डेस्कटॉप और मोबाइल दोनों पर Google Voice Search का उपयोग किया जा सकता है। गूगल Assistant में “Ok Google” कहकर मैसेज करना, फोन करना, दिशा या रास्ते का पता लगाना या गाने सुनने जैसे कई काम ध्वनि आदेशों के माध्यम से किए जा सकते हैं।

Google voice search क्या है यह जानने के बाद गूगल असिस्टेंट के बारे में जान लेना चाहिए। Google Assistant गूगल द्वारा विकसित एक virtual assistant है जो मोबाइल और smart home devices पर उपलब्ध है। इसके माध्यम से वॉइस कमांड, वॉइस सर्चिंग और वॉइस-एक्टिवेटेड डिवाइस कंट्रोल की सुविधा मिलती है।

Voice Search SEO Important क्यों है

इंटरनेट पर होने वाले सर्च के आंकड़े बताते हैं कि पिछले कुछ वर्षों में Voice Search में तेज़ी से बढ़ोत्तरी हुई है। आने वाले भविष्य में लोग अपने कामों या जानकारी प्राप्त करने के लिए Voice search को और भी ज्यादा इस्तेमाल करेंगे। इसलिए डिजिटल मार्केटिंग रणनीति में Voice Search Optimization बहुत जरूरी है।

SEO Experts और इंटरनेट से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि eCommerce में भी Voice Search से होने वाली शॉपिंग कई गुना बढ़ सकती है। यह वॉइस सर्च इंग्लिश के साथ-साथ हिन्दी में भी तेज़ी से बढ़ रहे हैं।

Google के अनुसार 41% वयस्क और 55% किशोर रोजाना Voice Search का उपयोग करते हैं

Website को Voice Search के लिए Optimize करने के फायदे क्या हैं?

उच्च रैंकिंग:

वॉइस सर्च या ध्वनि आधारित खोजों के लिए अपने Content को Optimize करने का सबसे बड़ा फायदा है सर्च में Higher ranking जिससे ज्यादा Visitor मिल सकते हैं। Voice Search Optimization करने के बाद search engine results pages (SERPs) में आपका Content top  positions पर आसानी से आ सकता है।

Higher authority और Credibility:

SEO समझने वाला हर व्यक्ति यह जनता है कि किसी भी वैबसाइट की Authority और उसकी Credibility उसके सर्च रैंकिंग्स में सीधा असर डालते हैं। अपने Content को Voice Search के लिए Optimize करने से आपका Content Voice सर्च रैंकिंग में टॉप पर आने लगेगा।

इससे आपके audience और Visitors की संख्या बढ़ेगी जो सीधे आपकी वैबसाइट की Authority बढ़ा देगा।

Higher revenue और profit:

Voice Search Optimization या SEO से ज्यादा Visitors और customers बनते हैं जिससे Conversion का Rate भी बढ़ ज्यादा है। ज्यादा Conversion होने से Revenue और आपके बिज़नस को होने वाला फायदा भी बढ़ जाता है।

अगर आप ब्लॉग चलते हैं तो Google Ads के माध्यम से अपनी कमाई बढ़ाने के लिए अपने कंटैंट को वॉइस सर्च Optimization जरूर करें। Voice Search SEO Optimization in Hindi आर्टिक्ल में आपको अपने वैबसाइट को Optimize करने की पूरी जानकारी दी गई है।

Voice Search की लोकप्रियता तेज़ी से बढ़ती जा रही है। ऐसे में अगर आप अपने Content को Voice Search SEO Optimization नहीं करेंगे तो आप कॉम्पटिशन में पीछे रह सकते हैं।

Voice Search SEO का Future

चाहे इंटरनेट पर कोई जानकारी प्राप्त करना हो, खरीदारी करना हो, या कोई कार्य करना हो, वॉइस सर्च का दायरा बढ़ता जा रहा है।

जैसे-जैसे voice analytics और speech recognition technologies एडवांस होंगी, वैसे-वैसे search behaviour भी बदलेगा।

Voice और speech recognition तकनीक अब लोगों के छोटे-छोटे कामों के लिए भी इस्तेमाल हो रही है। एक अनुमान के अनुसार हर चार अमेरिकियों में से एक व्यक्ति स्मार्ट स्पीकर (अमेज़ॅन इको, Google होम) का इस्तेमाल करता है। भविष्य में यह संख्या बढ़ने वाली है।

2011 में जब सिरी जैसे वॉयस असिस्टेंट लॉंच हुआ था तब किसी ने यह कल्पना भी नहीं की थी कि वॉइस सर्च Type कर के किए जाने वाले सर्च से भी आगे निकल जाएगा।

Google और Amazon जैसे बड़े ब्रांड वॉइस सर्च को लेकर बहुत उत्साहित हैं और इसे बढ़ावा दे रहे हैं। शिक्षा, E-commerce और बैंकिंग से लेकर स्वास्थ्य सेवा तक – कंपनियां उपभोक्ता मांग को पूरा करने के लिए अपनी voice technology बनाने की होड़ में लग गई हैं।

आने वाले भविष्य में हम ऐसे devices का प्रयोग करेंगे जिनमें “ज़ीरो टच” यानि बिना छूए ही सिर्फ आवाज़ की मदद से सारे काम हो जाएंगे।

1.  Local voice search तेजी से बढ़ रहा है: “Near Me” और स्थानीय सर्च में तेज़ी से बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसे में अपने कंटैंट में Local सर्च को शामिल करना बहत फायदेमंद हो सकता है।

2.  Security-focused: वॉइस सर्च या वॉइस Payments Users के लिए ज्यादा Safe और Secure होगा। typing ना होने के कारण यह अधिक सुविधाजनक भी हो जाएगा।

3.  Question-based keywords, Long-tail keywords, और Conversational content आपकी Voice search SEO के लिए जरूरी होंगे।

4.  Immediate results to Users: आपकी वैबसाइट या कंटैंट को इस तरह से Optimize करने की आवश्यकता है जो तुरंत महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करे। Users इंतज़ार नहीं कर सकते। अपनी Google My Business लिस्टिंग को जरूर Update करें और ग्राहकों द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर दें।

5.  ई-कॉमर्स और वॉइस सर्च: मोबाइल से वॉइस सर्च और ख़रीदारी करने के कारण ई-कॉमर्स का पूरा काम धीरे-धीरे वॉइस सर्च के माध्यम से होने लगेगा। ऐसा भी अनुमान है कि भविष्य में Keyboards और Typing से होने वाली Shopping शायद खत्म हो जाए।

वॉयस सर्च के लिए आवश्यक रणनीति पारंपरिक एसईओ से बहुत अलग तरह की होगी। इसलिए जितना जल्द हो सके उतनी जल्दी इस वॉइस सर्च SEO को अपना लेना चाहिए। आने वाला भविष्य Voice सर्च का ही है।

Voice Search Optimization कैसे करे

वॉइस सर्च बढ़ने के साथ ही अपने कंटैंट को वॉइस सर्च के लिए Optimize करना भी जरूरी हो गया है। इंम्नलिखित तरीकों से आप वॉइस सर्च के लिए अपने कंटैंट को आसानी से Optimize कर सकते हैं।

Type of Customer & Device Behavior को समझें:

किसी भी सर्च इंजिन में सर्च रिजल्ट्स को कस्टमर या User के Intent और Behaviour के अनुसार ही रैंकिंग किया जाता है। इसलिए सर्च इंजन के बदले User के हिसाब से कंटैंट तैयार करना चाहिए।

सर्च Traffic अब ज्यादा मोबाइल पर होने लगा है और उसका तरीका भी बादल रहा है। ऐसे में आपके कंटैंट को Personalised और स्पेसिफिक होना चाहिए।

Conversational Keywords पर फोकस करें:

इंटरनेट पर जब लोग बोलकर कुछ खोज करते हैं, तो वे सर्च के दौरान स्वाभाविक तरीके से बात करते हैं। यही Conversation Typing से अलग होती है। इसलिए यहाँ टाइप वाले Keywords से काम नहीं चलता बल्कि Conversational Keywords कि जरूरत पड़ती है।

आपका कंटैंट लोगों द्वारा बोलचाल कि भसह में डिवाइस Assistants से पूछे जाने वाले सवालों के अनुसार Optimize होने चाहिए। आपके कंटैंट में लोगों द्वारा पूछे जाने वाले सवालों के छोटे और पूरे जवाब होने चाहिए। ये जवाब तुरंत मिल भी जाने चाहिए। कोई भी User ज्यादा देर तक नहीं रुकता।

Local Search के लिए Optimize करें:

मोबाइल और वॉइस सर्च का एक बड़ा भाग Location-based queries का होता है जिनमें किसी स्थान या किसी बिज़नस एवं संस्थान के hours of operation के बारे में जानकारी मांगी जाती है। इन्हे अनदेखा नहीं करना चाहिए।

image showing Local search ke liye optimize kare.

इसके लिए आप Google My Business listing में अपनी सूचना दर्ज कर के स्थानीय लोगों तक अपनी पहुँच बना सकते हैं। आप अपने एसईओ में लोकल सर्च के अनुसार बदलाव करें। लोकल बिज़नस के लिए तो ये और भी जरूरी हैं।

Conversational लेकिन Concise Content बनाएँ:

वॉइस सर्च टाइप कर के किए जाने वाले सर्च से बहुत अलग होती है। लेकिन वॉइस के माध्यम से की जाने वाली सर्च में Users तुरंत और संक्षिप्त जानकारी चाहते हैं। इसलिए वॉइस सर्च के लिए SEO Optimization में जरूरी है कि Conversational Keywords पर फोकस के साथ-साथ आपका कंटैंट Concise या छोटा होना चाहिए।

Keyword Stuffing या अपने कंटैंट में टार्गेट कीवर्ड जबर्दस्ती भरने के दिन खत्म हो चुके हैं। जो भी कंटैंट तैयार करें वो User की सुविधा ध्यान में रखकर ही तैयार करें।

Structured Data का इस्तेमाल करें:

Schema markup जिसे structured data भी कहा जाता है आपकी वैबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के बारे में सर्च इंजन को बताता है। यह मेटाडेटा होता है जो आपकी साइट की जानकारी को सर्च इंजिन द्वारा व्यवस्थित और वर्गीकृत करने में मदद करता है।

आपके Visitors या Customers इसे देख नहीं सकते लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से ये आपकी सर्च रैंकिंग को प्रभावित करता है।

खासतौर से वॉइस सर्च में Structured Data के इस्तेमाल से आपको अपने Competitors पर बढ़त बनाने में बहुत मदद मिल सकती है। यह HTML add-on आपके कंटैंट के संदर्भ को समझने में मदद करता है जो सीधे आपकी सर्च रैंकिंग में सुधार करती है।

Google My Business Listing बनाएँ:

आपकी Google My Business लिस्टिंग लोकल SEO के साथ-साथ उन ग्राहकों के लिए भी महत्वपूर्ण होती है जो आपके व्यवसाय के बारे में महत्वपूर्ण विवरण, जैसे संपर्क नंबर, पता और खुलने का समय जैसी जानकारियाँ ढूंढ रहे होते हैं।

इसलिए इन विवरणों की सटीक जानकारी Google के My Business लिस्टिंग में जाकर अपडेट कर दें।

मोबाइल फ्रेंडली बनें:

जैसा कि आप जान चुके हैं कि मोबाइल पर अब सर्च वॉइस के माध्यम से ज्यादा हो रहा है। इसलिए अपने कंटैंट को मोबाइल फ्रेंडली बनाना और Optimize करना Voice SEO के लिए बहुत जरूरी है।

अगर आपकी वैबसाइट या कंटैंट mobile पर सही से दिख नहीं पता या उपलब्ध नहीं है तो Users तुरंत ही चले जाएंगे।

FAQ Page को जरूर शामिल करें:

अपने कंटैंट में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न को ऐसे लिखें जैसे वो आम बोलचाल कि भाषा में हों। वॉइस सर्च के माध्यम से जब कोई User कोई प्रश्न पूछते हैं, तो वे ज़्यादातर “कौन,” “क्या,” “कहां,” “कब,” “क्यों,” और “कैसे” से शुरू करते हैं।

Users को तुरंत ऐसे जवाब चाहिए होते हैं जो उनके सवालों के उत्तर कम समय में सही से दे सकें।

वॉइस सर्च के रिजल्ट्स में ऐसे प्रश्नों का उत्तर देने के लिए, एक अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न का पृष्ठ बनाएं और हर प्रश्न में “कौन,” “क्या,” “कहां,” “कब,” और “क्यों,” जैसे शब्द शामिल करें।

Conclusion :

वॉइस टेक्नालजी में प्रगति से अब डिजिटल वॉइस असिस्टेंट बहुत परिष्कृत और उपयोगी बन गए हैं। वॉइस ना सिर्फ मोबाइल के लिए बल्कि लगभग सभी स्मार्ट Devices के लिए अपने Customers से जुड़ने का सबसे पसंदीदा तरीका बन चुका है।

हमारे दैनिक जीवन और व्यवहार में स्मार्ट Devices की उपयोगिता बढ़ती जाएगी। ऐसे में पुराने SEO तरीकों से काम नहीं चलेगा। Voice Search SEO Optimization तेज़ी से बदलती इंटरनेट और IoT की दुनिया में अपने आप को Relevant रखने का बेहतरीन अवसर प्रदान करता है।

वॉइस सर्च SEO Optimization हिन्दी में उन लोगों के लिए जानना और भी जरूरी है जो हिन्दी में ब्लॉग चलाते हैं या अपने बिज़नस को उन Consumers तक ले जाना चाहते हैं जो भारत में रहते हैं या इस भाषा का उपयोग करते हैं।

Frequently Asked Questions (FAQs):

  1. Voice Search SEO Kya Hai?

    Voice Search SEO में हम अपने वैबसाइट या कंटैंट को इंटरनेट पर होने वाली वॉइस सर्च के लिए Optimize करते हैं। ये ना सिर्फ हमारी सर्च रैंकिंग को बढ़ाते हैं बल्कि सर्च इंजन की नजर में हमारी वैबसाइट या कंटैंट की क्रेडिबिलिटी भी बढ़ जाती है।
    Voice Search SEO के लिए Content में छोटे, सारगर्भित और संक्षिप्त उत्तर शामिल करने से लेकर Voice Search FAQ Pages क्रिएट करने जैसे काम किए जाते हैं।

  2. Kya Voice Search ka SEO par Impact Hoga?

    वॉइस सर्च का SEO पर बहुत Impact होता है। वॉइस सर्च दिनोंदिन बढ़ रहा है इसलिए किसी भी SEO Strategy में वॉइस सर्च Optimization उसे और बेहतर बना देता है। वॉइस सर्च devices पर लोगों के ज्यादा समय बिताने और इस्तेमाल करने से SEO में उसका महत्व बढ़ गया है।

  3. Voice Search Ka Importance Kya Hai?

    वॉइस सर्च तेज़ और आसान होता है। यह Hands-free होता है जिसके कारण आप Multi-tasking भी कर सकते हैं। गूगल और माइक्रोसॉफ़्ट का मानना है कि भविष्य में वॉइस सर्च ही ज्यादा होगा। इसलिए वॉइस सर्च और वॉइस सर्च SEO Optimization दोनों का बहुत Importance है।

My name is Vipul Yadav, I have done my graduation from Lucknow University in the field of Marketing. Further after completing my graduation, I have chosen Digital Marketing as my career. Currently, I'm working for Culturelligence.

Leave a Comment